Top 10] माउंट आबू में घूमने की जगह | best places to visit in mount abu in Hindi

5/5 - (1 vote)

क्या आप भीषण गर्मी से राहत पाने के लिए किसी शांत और खूबसूरत हिल स्टेशन की तलाश कर रहे हैं? अगर हाँ, तो माउंट आबू आपके लिए एकदम सही जगह है! राजस्थान के एकमात्र हिल स्टेशन के रूप में जाना जाता है, माउंट आबू अरावली पर्वतमाला की खूबसूरत चोटियों में बसा है। यह स्थान प्राकृतिक सौंदर्य, मनमोहक झीलों, भव्य मंदिरों और दिलचस्प संग्रहालयों का एक अद्भुत संगम प्रस्तुत करता है। तो आइए, इस लेख में हम माउंट आबू में घूमने की जगह की यात्रा करें और जानें कि पर्यटकों को यहां क्या-क्या आकर्षित करता है।

Table of Contents

माउंट आबू पर्यटन स्थल – नक्की झील (Nakki Lake)

माउंट आबू पर्यटन स्थल
Places to visit in Mount Abu in Hindi

बचपन की यादों में खो जाइए नक्की झील के किनारे! माउंट आबू में घूमने की जगह में सबसे पहला नाम आता है नक्की झील का। चारों तरफ से हरी-भरी पहाड़ियों से घिरी ये झील मानो किसी परीकथा के झरोखे से निकलकर आई हो। शांत वातावरण, हवा में बहती पहाड़ों की खुशबू, और सूरज की किरणें पानी पर नाचती हुई – ये नज़ारा मन को मोह लेता है। झील के किनारे घूमना हो, बोटिंग का मज़ा लेना हो, या फिर बस पहाड़ों को निहारते हुए पलभर रुक जाना हो, नक्की झील हर तरह के घुमक्कड़ को अपनी ओर खींच लेती है।

माउंट आबू में घूमने की जगह के कुछ महत्वपूर्ण बिंदु

  • समय: सुबह 7:00 बजे से शाम 7:00 बजे तक
  • प्रवेश शुल्क: ₹ 10/- (प्रति व्यक्ति)
  • स्थान: माउंट आबू का केंद्र, राजस्थान
  • कैसे पहुंचे: माउंट आबू रोड (आबू रोड रेलवे स्टेशन से 27 किमी) या डबोक हवाई अड्डे (से 22 किमी) से टैक्सी या बस द्वारा पहुंचा जा सकता है।

Top 10] धर्मशाला में घूमने की जगह | Visiting places in Dharamshala in Hindi

माउंट आबू मंदिर – दिलवाड़ा जैन मंदिर (Dilwara Jain Temple)

इतिहास और कला के धनी दिलवाड़ा जैन मंदिर, माउंट आबू के दर्शनीय स्थलों में एक अनमोल रत्न हैं। इन मन्दिरों की भव्यता देखते ही ऐसा लगता है मानो संगमरमर के पत्थरों को तराश कर कला का जादू जगा दिया गया हो। मन्दिरों की दीवारों पर बारीकी से की गई नक्काशी और छतों पर बनी आकृतियां देखकर आप दंग रह जायेंगे। इन मन्दिरों की शांत सीमाओं में घूमते हुए मन को एक अलग ही तरह की सुकून मिलती है, मानो सदियों पुराना इतिहास अपने आप से कहानियां सुना रहा हो। दिलवाड़ा जैन मंदिर जैन धर्म और कला के प्रति प्रेम जगाते हैं, साथ ही साथ ये हमें शिल्प कला के उन शिखरों को छूने का अवसर देते हैं जिन्हें छू पाना हर किसी के नसीब में नहीं होता।

माउंट आबू में घूमने की जगह के कुछ महत्वपूर्ण बिंदु

  • समय: सुबह 12:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक (दोपहर 1:30 बजे से 2:30 बजे तक दर्शन बंद रहता है)
  • प्रवेश शुल्क: ₹ 50/- (प्रति व्यक्ति)
  • स्थान: आबू रोड से लगभग 2.5 किमी दूर
  • कैसे पहुंचे: आबू रोड से टैक्सी या रिक्शे द्वारा आसानी से पहुंचा जा सकता है।

माउंट आबू में जाने की जगहें – अचलगढ़ किला (Achalgarh Fort)

इतिहास के रोमांच को जिएं अचलगढ़ किले में! माउंट आबू के दर्शनीय स्थलों में अगर रोमांच का तड़का चाहते हैं, तो अचलगढ़ किला आपके लिए है। पहाड़ी की चोटी पर स्थित ये किला राजपूत शौर्य की गाथा गाता है। किले की ऊंचाई से निहारने पर चारों तरफ फैले हरे-भरे जंगल और दूर दिखते नीले पहाड़ दिल को मोह लेते हैं। किले के भीतर घूमते हुए तोपों को देखना, प्राचीन सुरंगों का पता लगाना और राजा-महाराजाओं के रहने के स्थानों की कल्पना करना रोमांचकारी अनुभव होता है। इतिहास प्रेमियों के लिए तो अचलगढ़ किला किसी ख़ज़ाने से कम नहीं।

  • Timings: 9:00 am to 6:00 pm
  • Entry Fee: ₹ 30/-(per person)
  • Location: On the outskirts of Mount Abu, Rajasthan
  • How to reach: Mount Abu can be reached by taxi or autorickshaw from the city.

माउंट आबू में घूमने की जगह – पीस पार्क (Peace Park)

माउंट आबू में घूमने की जगह
Mount Abu tourist places in Hindi

प्रकृति की गोद में सैर करें पीस पार्क में! माउंट आबू के दर्शनीय स्थलों में अगर आप शांत वातावरण और प्राकृतिक सौंदर्य का आनंद लेना चाहते हैं, तो पीस पार्क ज़रूर जाइए। हरे-भरे पेड़ों से घिरा हुआ ये पार्क मानो रोज़मर्रा की भागदौड़ से दूर ले जाता है। सुबह की ताज़ी हवा में घूमना हो, शाम को सूर्यास्त का नज़ारा देखना हो, या फिर बच्चों के साथ पिकनिक मनानी हो, पीस पार्क हर किसी के लिए खुशनुमा यादें समेटे हुए है। पार्क में बने हुए कृत्रिम झरने और रंग-बिरंगे फूल पर्यटकों को अपनी ओर खींचते हैं।

माउंट आबू में घूमने की जगह के कुछ महत्वपूर्ण बिंदु

  • Timings: 8:00 AM to 6:00 PM
  • Entry Fee: Free
  • Location: Mount Abu city center, Rajasthan
  • How to reach: Mount Abu can be reached on foot by wandering around the city.

Top 10] माथेरान दर्शनीय स्थल | Places to visit in matheran in Hindi

माउंट आबू के पास पर्यटन स्थल – माउंट आबू वन्यजीव अभयारण्य (Mount Abu Wildlife Sanctuary)

Tourist places near Mount Abu in Hindi

जंगल की सफारी पर निकलें माउंट आबू वन्यजीव अभयारण्य में! माउंट आबू के दर्शनीय स्थलों में वन्यजीव प्रेमियों के लिए स्वर्ग है माउंट आबू वन्यजीव अभयारण्य। हरे-भरे जंगलों से घिरा हुआ ये अभयारण्य पेड़ों से झांकते हुए हिरणों, ऊंची टहनियों पर उछलते हुए लंगूरों और शांत झीलों के किनारे विचरण करते हुए पक्षियों को देखने का मौका देता है। अगर आप भाग्यशाली हैं, तो जंगल के राजा – शेर को देखना भी आपकी यात्रा को अविस्मरणीय बना सकता है। इन जंगली जानवरों को उनके प्राकृतिक आवास में देखना रोमांचकारी होने के साथ-साथ प्रकृति के महत्व को भी समझने का एक शानदार तरीका है।

  • Timings: सुबह 9:00 बजे से शाम 5:30 बजे तक
  • Entry Fee: ₹ 30/- (प्रति भारतीय वयस्क), ₹ 300/- (प्रति विदेशी वयस्क)
  • Location: माउंट आबू के बाहरी इलाके में, अरावली पर्वतमाला, राजस्थान
  • How to reach: माउंट आबू शहर से टैक्सी या जिप जाकर सफारी का लाभ उठाया जा सकता है।

माउंट आबू में करने के लिए चीजें – ट्रेकिंग (Trekking)

पहाड़ों की गोद में रोमांच का अनुभव करें ट्रैकिंग के ज़रिए! माउंट आबू के दर्शनीय स्थलों की खूबसूरती को सचमुच महसूस करना चाहते हैं? तो फिर पैदल चलकर पहाड़ों का सफर यानी ट्रैकिंग का मज़ा जरूर लें। हरे-भरे जंगलों से होकर गुज़रते हुए ट्रैक, ऊंची चोटियों से खुलते हुए मनमोहक नज़ारे, और हर कदम पर नई चीज़ों को देखने का रोमांच – ट्रैकिंग का अनुभव अविस्मरणीय होता है। रास्ते में मिलने वाले पक्षियों की मीठी आवाज़, पेड़ों की खुशबू, और पहाड़ों की चुनौती को पार करने की खुशी – माउंट आबू में घूमने लायक जगह ये वो यादें हैं जिन्हें आप हमेशा संजोकर रखेंगे। ट्रैकिंग के लिए आप अपनी पसंद के मुताबिक आसान या मुश्किल रास्ता चुन सकते हैं।

  • समय: (निश्चित समय नहीं है, सूर्योदय से पहले या सूर्यास्त के बाद ट्रैकिंग करने से बचें)
  • प्रवेश शुल्क: निःशुल्क (कुछ ट्रेकिंग रास्तों पर मामूली शुल्क लग सकता है)
  • स्थान: माउंट आबू में कई ट्रैकिंग रास्ते हैं, जिनमें से कुछ लोकप्रिय हैं – क्रैग्स पैथ, आबूगढ़ समिट ट्रेक, वन स्टेप व्यू पॉइंट आदि।
  • कैसे पहुंचे: चुने हुए ट्रैकिंग रास्ते के शुरुआती बिंदु तक टैक्सी या ऑटोरिक्शा द्वारा पहुंचा जा सकता है।

माउंट आबू के आसपास घूमने की जगह – गुरु शिखर (Guru Shikhar)

सूर्योदय के नज़ारे का जादू देखें गुरु शिखर पर! माउंट आबू के दर्शनीय स्थलों की यात्रा तब अधूरी मानी जाती है, जब तक आप गुरु शिखर पर न पहुंचे हों। अरावली पर्वतमाला की सबसे ऊंची चोटी पर स्थित गुरु शिखर, धार्मिक महत्व के साथ-साथ प्राकृतिक सौंदर्य का भी ख़ज़ाना है। इस शिखर पर स्थित मंदिर में भगवान दत्तात्रेय की पूजा की जाती है। यहां पहुंचने के लिए आपको थोड़ी चढ़ाई चढ़नी पड़ सकती है, लेकिन सूर्योदय के समय पूरब से आते हुए सूरज की सुनहरी किरणें पहाड़ों को रंगती हैं, ये नज़ारा देखने लायक होता है। इतनी ऊंचाई से चारों तरफ फैले हरे-भरे जंगलों और दूर दिखते नीले आसमान को देखना आपको अविस्मरणीय अनुभव देगा।

  • समय: हमेशा खुला रहता है (लेकिन सूर्योदय का नज़ारा देखने के लिए सुबह जल्दी पहुंचना उचित होता है)
  • प्रवेश शुल्क: निःशुल्क
  • स्थान: माउंट आबू के सबसे ऊंचे स्थान पर, अरावली पर्वतमाला, राजस्थान
  • कैसे पहुंचे: माउंट आबू शहर से टैक्सी या जिप द्वारा पहुंचा जा सकता है। कुछ दूर पैदल चलकर मंदिर तक पहुंचना होता है।

op 10] दार्जिलिंग में घूमने की जगह | Best places to visit in Darjeeling in Hindi

माउंट आबू के पास घूमने की जगह – गांधी स्मारक (Gandhi Memorial)

माउंट आबू के पास घूमने की जगह
Things to do in Mount Abu in Hindi

राष्ट्रपिता के आदर्शों को जिएं गांधी स्मारक में! माउंट आबू के दर्शनीय स्थल सिर्फ प्राकृतिक नज़ारों और ऐतिहासिक स्थलों तक ही सीमित नहीं हैं। यहां आप इसे समझने के लिए राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देने के लिए गांधी स्मारक भी जा सकते हैं। शांत वातावरण में बना हुआ ये स्मारक, सादगी और सत्य के मार्ग पर चलने की सीख देता है। स्मारक के संग्रहालय में गांधी जी के जीवन से जुड़ी चीज़ों को देखना, उनके संघर्षों को समझना, और उनके आदर्शों को अपनाने का प्रण लेना – ये अनुभव आपको जीवन भर याद रहेंगे। इतिहास और राष्ट्रप्रेम के संगम का प्रतीक ये स्मारक माउंट आबू की जानकारी यात्रा को और भी सार्थक बना देता है।

  • समय: सुबह 10:30 बजे से शाम 6:00 बजे तक (सोमवार बंद)
  • प्रवेश शुल्क: ₹ 10/- (प्रति व्यक्ति)
  • स्थान: माउंट आबू शहर के निकट, राजस्थान
  • कैसे पहुंचे: माउंट आबू शहर से टैक्सी या ऑटोरिक्शा द्वारा पहुंचा जा सकता है।

माउंट आबू में होटल – Hotels in Mount Abu

गौर करने वाली बात यह है माउंट आबू में रुकने की जगह आपके बजट और पसंद के अनुसार माउंट आबू में कई बेहतरीन होटल हैं।

कुछ लोकप्रिय विकल्पों में शामिल हैं:

  • होटल विनायक – किफ़ायती होटल में बिना किसी तड़क-भड़क वाले कमरे हैं. कमरों में सादी सजावट की गई है. इनमें टीवी भी है। (₹1,872 प्रति रात)
  • होटल ABU INN – (₹1,696 प्रति रात)
  • होटल जैसल – (₹1,680 प्रति रात)
  • होटल शालीमार कॉटेज – (₹1,686 प्रति रात)
  • जेम्स विला – (₹974 प्रति रात)

Top 10] डलहौजी में घूमने की जगह | Best places to visit in dalhousie in Hindi

माउंट आबू में प्रसिद्ध – शीतला माता मेला (Shitala Mata Fair)

अब आइए देखते हैं माउंट आबू की खूबसूरती सिर्फ दर्शनीय स्थलों तक ही सीमित नहीं है, बल्कि यहां मनाए जाने वाले रंगारंग त्योहार भी पर्यटकों को अपनी ओर खींचते हैं। इन त्योहारों में शामिल होकर आप ना सिर्फ राजस्थानी संस्कृति की झलक देख सकते हैं, बल्कि स्थानीय लोगों के साथ खुशियां बांटने का मौका भी मिलता है। आइए जानते हैं माउंट आबू के कुछ प्रसिद्ध त्योहारों के बारे में –

  • शीतला माता मेला (फरवरी/मार्च):माउंट आबू की शीतला माता को समर्पित यह मेला शीतला अष्टमी के अवसर पर आयोजित किया जाता है। इस मेले में शामिल होकर आप भक्तिमय माहौल का आनंद ले सकते हैं और साथ ही पारंपरिक वस्तुओं की दुकानों पर घूमना भी एक अलग ही अनुभव होता है।
  • माउंट आबू समर फेस्टिवल (मई): भीषण गर्मी से राहत पाने के लिए माउंट आबू आने वाले पर्यटकों के लिए मई महीने में आयोजित होने वाला समर फेस्टिवल किसी खुशखबरी से कम नहीं। इस उत्सव में लोक नृत्यों, रंगारंग कार्यक्रमों और शिल्प कला प्रदर्शनियों का आयोजन किया जाता है।

माउंट आबू कैसे पहुंचे – How to reach Mount Abu

राजस्थान के खूबसूरत हिल स्टेशन माउंट आबू तक पहुंचना आसान है। आप सड़क, हवाई या रेल मार्ग से यात्रा कर सकते हैं, अपने बजट और समय के अनुसार चुनाव करें।

सड़क मार्ग:

अगर आप सड़क यात्रा का रोमांच पसंद करते हैं, तो आप दिल्ली, जयपुर, गुजरात या आसपास के अन्य शहरों से माउंट आबू के लिए कार या बस से जा सकते हैं।

  • दिल्ली से माउंट आबू: लगभग 820 किलोमीटर की दूरी है। अच्छी सड़कें हैं और रास्ते में कई रुके हुए स्थान मिलते हैं। सफर में लगभग 13 से 14 घंटे लग सकते हैं।
  • जयपुर से माउंट आबू: लगभग 210 किलोमीटर की दूरी है। अच्छी सड़कें हैं और सफर में लगभग 4 से 5 घंटे लग सकते हैं। राजस्थान रोडवेज की बसों का किराया लगभग ₹500 से ₹1000 के बीच है

हवाई मार्ग:

माउंट आबू का निकटतम हवाई अड्डा डबोक (उदयपुर) है, जो लगभग 185 किलोमीटर दूर स्थित है। देश के कई प्रमुख शहरों से उदयपुर के लिए नियमित उड़ानें हैं। उदयपुर हवाई अड्डे से माउंट आबू तक आप टैक्सी या कैब किराए पर ले सकते हैं, किराया लगभग ₹2500 से ₹3000 के बीच हो सकता है।

रेल मार्ग:

माउंट आबू का निकटतम रेलवे स्टेशन आबू रोड है, जो लगभग 29 किलोमीटर दूर स्थित है। दिल्ली, जयपुर, मुंबई और अहमदाबाद जैसे शहरों से आबू रोड के लिए नियमित ट्रेनें चलती हैं। आबू रोड रेलवे स्टेशन से माउंट आबू तक आप टैक्सी या ऑटोरिक्शा किराए पर ले सकते हैं, किराया लगभग ₹300 से ₹500 के बीच हो सकता है।

माउंट आबू में घूमने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit in mount abu in Hindi

राजस्थान का एकमात्र हिल स्टेशन, माउंट आबू, अपनी प्राकृतिक सुंदरता और मनमोहक मौसम के लिए जाना जाता है। यदि आप इस खूबसूरत जगह की यात्रा का प्लान बना रहे हैं, तो यह जानना ज़रूरी है कि माउंट आबू घूमने का सबसे अच्छा समय कौन सा है।

अक्टूबर से मार्च: यह माउंट आबू घूमने का सबसे अच्छा समय माना जाता है। इन महीनों में मौसम सुहावना होता है, दिन गर्म और धूप से भरे होते हैं, और रातें ठंडी होती हैं। यह पर्यटन के लिए आदर्श समय है, क्योंकि आप विभिन्न पर्यटन स्थलों घूमने और बाहरी गतिविधियों का आनंद ले सकते हैं।

अप्रैल से जून:गर्मियों के दौरान, माउंट आबू का तापमान 35°C तक पहुंच सकता है। यदि आप गर्मी पसंद करते हैं और भीड़ से बचना चाहते हैं, तो यह आपके लिए सही समय हो सकता है।

जुलाई से सितंबर:बरसात के मौसम में, माउंट आबू हरी-भरी हो जाता है। झरने बहते हैं और मौसम मनभावन हो जाता है।

निष्कर्ष – Conclusion

तो लीजिए, माउंट आबू के दर्शनीय स्थलों की एक झलक! प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर पहाड़ियों से लेकर आध्यात्मिक मंदिरों और ऐतिहासिक स्थलों तक, माउंट आबू घूमने के लिए एक आदर्श स्थान है। यहां हर तरह के यात्री के लिए कुछ न कुछ खास है, चाहे आप रोमांचकारी अनुभव चाहते हों, शांत वातावरण में आराम करना चाहते हों, या इतिहास और संस्कृति में डूबना चाहते हों। अगली बार जब आप राजस्थान की यात्रा की योजना बना रहे हों, तो माउंट आबू को अपनी यात्रा कार्यक्रम में शामिल करना न भूलें। यह यात्रा आपको अविस्मरणीय अनुभव प्रदान करेगी।

नवोदय विद्यालय में प्रवेश के नियम 2024 – navodaya vidyalaya admission rules in hindi

माउंट आबू में घूमने की जगह के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

Q. माउंट आबू कहां है?

Ans. माउंट आबू राजस्थान राज्य के सिरोही जिले में स्थित एक लोकप्रिय हिल स्टेशन है। यह अरावली पर्वत श्रृंखला में 1220 मीटर (4000 फीट) की ऊंचाई पर स्थित है।

Q. माउंट आबू में क्या है खास?

Ans. माउंट आबू राजस्थान का एक रत्न है, जो अपनी प्राकृतिक सुंदरता, शांत वातावरण, धार्मिक महत्व और रोमांचक गतिविधियों के लिए जाना जाता है। यहाँ हर उम्र और रुचि के पर्यटकों के लिए कुछ न कुछ खास है।

Q. माउंट आबू में कौन सा मंदिर है?

Ans. दिलवाड़ा जैन मंदिर:11वीं और 13वीं शताब्दी के बीच निर्मित, ये जैन मंदिर अपनी शानदार वास्तुकला और मूर्तिकला के लिए प्रसिद्ध हैं।आचार्य मान मंदिर:हिंदू धर्म के 24वें तीर्थंकर भगवान महावीर के शिष्य आचार्य मान को समर्पित यह मंदिर, माउंट आबू के सबसे प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है।

Q. माउंट आबू घूमने का सही समय कौन सा है?

Ans. माउंट आबू घूमने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च के बीच का होता है। इस दौरान मौसम सुहावना होता है, तापमान 20°C से 30°C के बीच रहता है, और आसमान साफ रहता है। यह दर्शनीय स्थलों की यात्रा, ट्रेकिंग और अन्य बाहरी गतिविधियों के लिए आदर्श समय है।

Top 10] ऊटी में घूमने की जगह | Best places to visit in Ooty in Hindi

Leave a Reply